R21 drops Skin Treatment Homeopathy, रक्त एवं त्वचा विकारों के लिए

Homeopathy medicine for skin treatment in Hindi, Eczema, Dermatitis

Dr.Reckeweg R21 in Hindi. डॉ.रेकवेग अर.२१- पुनःनिर्माणक ड्रॉप्स, रक्त एवं त्वचा विकारों के लिए| यह दवा चर्म रोग जैसे खुजली, लाल धब्बे, दाग का इलाज के लिए सूचित है। यह खून और त्वचा का पुनः सक्रिय (Reconstituant Drops) करके देखबाल करता है

मूल-तत्व : थूजा D 30, सोरिनम D 30, मेडोर्हीनम D 30, वैक्सीनिनम D 30.

लक्षण : पुराना एक्ज़िमा त्वचा-रोग जो प्रचलित उपचार पद्धति से ठीक ना हो रहा हो । त्वचा रोग से सम्बन्धित स्थितियों में संरचनात्मक सुधार । प्रतिरोधक शक्ति बढ़ाने के लिए ।

क्रिया विधि :

मेडोर्हीनम : त्वचा की फैलती हुई खुजली जो शाम को बढ़ जाती है । ताँबे जैसे लाल रंग के धब्बों के साथ लालिमा, जो कभी-कभी कत्थई रंग में बदल जाते हैं, मस्से । दबे हुए सूज़ाक (gonorrhoea in Hindi) का परिणाम ।

सोरिनम : लसिका तथा ग्रंथि प्रणाली को प्रभावित करती है । फफोले, गांठें तथा फुंसियाँ । सामान्य कमज़ोरी, दुर्गंधपूर्ण स्राव ।

थूजा : पीड़ा युक्त तथा अतिसंवेदनशील त्वचा, छूने से और बढ़ने वाली, साथ में चीटियां रेंगने की अनुभूति (formication), खुजली और जलन । गीला एक्ज़िमा, विशेषकर खोपड़ी, तथा चेहरे पर, मस्से ।

वैक्सीनिनम : चेचक के टीके के प्रभाव, लगातार बनी रहने वाले त्वचा की फुंसियां, तंत्रिकाशूल तथा सामान्य विकृति ।

खुराक की मात्रा: सामान्यता, लंबे समय तक, भोजन के पूर्व प्रतिदिन 3 बार थोड़े पानी में 10-15 बूँदें ।

मूल्य: २00 Rs (10% Off) ऑनलाइन खरीदो!!

OUTSIDE INDIA Pay Via PaypalBuy Now

डॉ. रेक्वेग के अन्य थेरप्यूटिक दवाईयों की सूची

टिप्पणी :

एक्ज़िमा में :R-23 लेँ, बार-बार तकलीफ होने की प्रवत्ति में R-21 की 10-15 बूँद प्रतिदिन 1-2 बार साथ में लें । रोग में प्रत्यक्ष सुधार होने पर खुराक कम कर के कुछ समय तक दिन में एक बार लें ।

रोग प्रतिरोधक प्रतिक्रिया को बढ़ाने के लिए तथा प्रतिक्रियात्मकता सुधारने के लिए R 26 का प्रयोग करें ।

अपरस अथवा विचर्चिका (Psoriasis) में : R 65 देखें ।

19 विचार “R21 drops Skin Treatment Homeopathy, रक्त एवं त्वचा विकारों के लिए&rdquo पर;

    1. सोरायसिस एक अस्वास्थ्यकर त्वचा की स्थिति है जहां शरीर में अतिरिक्त त्वचा कोशिकाओं को निपटा नहीं जाता है। त्वचा की कोशिकाएं त्वचा की सतह पर ढेर जाती हैं, जिससे छालरोग के पैच दिखाई देने लगते हैं। आपको किसी व्यक्ति को छूने से छालरोग नहीं मिल सकता है, यह आनुवंशिकता से आता है. सोरायसिस आमतौर पर घुटनों, कोहनी और खोपड़ी पर होता है, और यह धड़, हथेलियों और पैरों के तलवों को भी प्रभावित कर सकता है। छालरोग के लक्षण आपके प्रकार के आधार पर भिन्न होते हैं , आम तौर पर त्वचा पर छोटे लाल धब्बों के रूप में शुरू होता है, पलक छालरोग एक लाल, पतला कोटिंग के साथ लाल, उभरा पैच में विकसित होता है – इन पैच को सजीले टुकड़े (scaly patches) कहा जाता है।

      अर ६५बूंदे (होम्योपैथी दवा) सोरयासिस के लिए संकेत है.छालरोग के लिए अन्य होम्योपैथिक दवाओं में शामिल हैं श्वाबे टोपी बेरबेरीस क्रीम, बक्सेंस होम्योपैथिक फॉर्मूला ‘डी’, एडेल 12 डरकट ड्रॉप्स और ऑयंटमेंट, एलेन ए 27 ड्रॉप्स, फोर्ट्स डॉग्लस क्रीम, कैंथरिस क्रीम, एसिड क्राइसो ओंटमेंट

      पसंद करें

    1. त्वचा खुजली के लिए डाल्हीको प्रेर या अनियंत्रित खुजली के लिए आर्सेनिकम अल्ब लिया जासकता है. सल्फर मरहम खुजली वाली त्वचा के लिए अच्छा है, कैलेंडुला क्रीम को भी माना जा सकता है क्योंकि यह एंटीसेप्टिक है

      पसंद करें

    1. खुजली वाली त्वचा, जिसे प्रुरिटिस के नाम से भी जाना जाता है, एक परेशान और अनियंत्रित सनसनी है जो खरोंच की पीड़ा लता है। खुजली के लिए संभावित कारण आंतरिक बीमारियों जैसे कि किडनी या जिगर की बीमारी, त्वचा की चकत्ते, एलर्जी, और जिल्द की सूजन से लेकर होती है। यदि आपके खुजली छाला है, तो इसमें द्रव होता है जो खरोंच के बाद बाहर आता है. फोर्ट्स डगलस क्रीम या श्वाब टोपी सल्फर ऑटेंमेंट को बाहरी अनुप्रयोग के लिए सलाह दी जाती है

      पसंद करें

    1. सोरायसिस में त्वचा कोशिकाएं एक दूसरे पर बढ़ती हैं और स्केली और खुजली, सूखी पैच बनाती हैं। यह एक अतिरक्त प्रतिरक्षा प्रणाली के कारण होता है और यह त्वचा कोशिकाओं के जीवन चक्र को गति देता है। लक्षण फ्लेकिंग, सूजन, और मोटी, सफेद, (चांदी जैसा ) या त्वचा के लाल पैच शामिल हैं| सोरायसिस के उपचार में स्टेरॉयड क्रीम, जीवविज्ञान , प्रकाश चिकित्सा और मौखिक दवाएं शामिल हैं। उपचार का उद्देश्य स्केल को हटाने और त्वचा कोशिकाओं को इतनी जल्दी से बढ़ने से रोकना है| होम्योपैथी एक अच्छा उपचार विकल्प प्रदान करता है जो कि सुरक्षित और बिना दुष्प्रभाव है.

      पसंद करें

    1. आपको अपनी त्वचा की स्थिति में महत्वपूर्ण सुधार होने तक या अपने डॉक्टर द्वारा सलाह दी जाने तक आर 21 बूंदों को लेने की आवश्यकता है। इसे अन्य दवाओं के साथ लिया जा सकता है क्योंकि कोई दवा रिएक्शन या दुष्प्रभाव नहीं है

      पसंद करें

    1. आपके पैर में फंगल संक्रमण हैं, इसे एथलीट फूट या टिनिया पेडीस भी कहा जाता है। यह छीलने, लाली, खुजली, जलने, और कभी-कभी फफोले और घावों का कारण बनता है। कवक गर्म, नम वातावरण में सबसे बढ़ता है और गर्मियों के मौसम के दौरान गंभीर होता है. हमने यहां फंगल उपचार के लिए होम्योपैथी दवाएं इंगित की हैं

      पसंद करें

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s