डॉ रेकवेग R88 Anti-Viral Drops विषाणु नाशक, वाईरल संक्रमण ड्रॉप्स

r88 drops in hindi for viral infection fever flu, Sore throat, Runny nose, stomach flu

वाईरल संक्रमण के बारे में संक्षिप्त विवरण
कई मानव बीमारियां या तो वायरस या बैक्टीरिया के संक्रमण के कारण होती हैं, दोनों अक्सर एक ही तरह से प्रसारित होती हैं, लेकिन लक्षण और उपचार विधियां अलग-अलग हो सकती हैं। विभिन्न प्रकार के वायरल संक्रमण सामान्य सर्दी से फ्लू तक मनुष्यों को प्रभावित कर सकते हैं। एक निम्न ग्रेड बुखार कई वायरल संक्रमण का एक लक्षण है। लेकिन डेंगू बुखार जैसे कुछ वायरल संक्रमण, उच्च बुखार पैदा कर सकते हैं। वायरल संक्रमण के सामान्य लक्षणों में पीड़ादायक गले, नाक बहने, खांसी, टॉन्सिल्स पैर सफ़ेद धब्बे, हल्की दर्द और आपकी गर्दन में लिम्फ नोड्स की सूजन शामिल है। अवधि: अधिकांश लोग वायरस से लगभग दो सप्ताह तक संक्रमित होंगे। पहले दो से तीन दिनों के दौरान लक्षण आमतौर पर खराब होते हैं और यह तब होता है जब आप वायरस फैलाने की अधिक संभावना रखते हैं। गैस्ट्रोएंटेरिटिस, या पेट फ्लू, रोटवायरस और नोरोवायरस जैसे वायरस के कारण एक बहुत ही सामान्य वायरल संक्रमण है। यह अप्रिय बीमारी उल्टी और दस्त जैसे लक्षण पैदा करती है, और यह बेहद संक्रामक है

R88 drops hindi लक्षण : कोई भी विषाणु सम्बन्धी रोग, जैसे खसरा, मोनोन्यूक्लियोसिस (Mononucleosis), हर्पीज, फ्लू आदि रोगों में।

आर ८८ ड्रॉप्स मूल-तत्व : कैरियोफॉइलस एरोमेटिक्स D3, कोक्साकी D30, D60, D200, डिफटैरिनम D30, D60, D200, एप्सटीन बार D30, D60, D200, यूफ्रेशिया D5, हर्पीज सिम्प्लेक्स D30, D60, D200, हर्पीज जोस्टर D30, D60, D200, इंफ्लुएसिनम D30, D60, D200, मोनोनुक्लियोसिस D30, D60, D200, मोरबिलिनम D30, D60, D200, पोलियो मायलिटिस D30, D60, D200, वी-ग्रिपे D30, D60, D200।

आर८८ वाईरल संक्रमण ड्रॉप्स क्रिया विधि : कोक्साकी (Coxsackie), डिफटैरिनम, एप्सटीन बार (Epstein) हर्पीज सिम्प्लेक्स, हर्पीज जोस्टर, इंफ्लुएसिनम, मोनो-नुक्लियोसिस, मोरबिलिनम, पोलियोमायलिटिस, वी-ग्रिपे :
उपर्युक्त मूल-तत्व अत्यधिक घुलनशील होते हैं, जिससे कोई भी विषाणु उत्पाद में नहीं रह जाते, परंतु विषाणुओं की शक्ति आक्रामकों के विरुद्ध रक्षा करने के लिए रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाती है। यह विषाणुओं के विरुद्ध प्राकृतिक सुरक्षा को रक्षात्मक ढंग से (बिना कुप्रभाव के) बढ़ाने के लिए एक सुरक्षित टीकाकरण या रोगक्षमीकरण फॉर्मूला (इम्युनाइजेशन) बन जाता है।
कैरियोफॉइलस एरोमेटिक्स : प्राकृतिक वायरस नाशक (Antiviral)।
यूफ्रेशिया : रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने वाली औषधि (Immune Stimulant)।

आर ८८ ड्रॉप्स खुराक की मात्रा : प्राकृतिक टीकाकरण के फार्मूले के रूप में, यह विषाणु रोधी फार्मूला बच्चों के लिए सुरक्षित है, तथा ३ दिन तक दिन में ३ बार ३ बूँद देना चाहिए, २ वर्ष की आयु तक प्रत्येक माह। यह फार्मूला नाभि में लगा कर स्वयं बच्चे के हाथ से मलवा सकते हैं। बड़े बच्चों या वयस्कों के लिए प्रयोग करने के लिए प्रतिदिन ३ बार १० बूँद वायरल रोग दूर करने के लिए, अथवा दिन में १ बार १० बूँद रोग-रोधक के रूप में प्रयोग करें।

टिप्पणी : इंफ्लुएंजा में R6, बुखार के लिए R1, चिकेन पॉक्स में R68, हर्पीज़ ज़ोस्टर (Herpes Zoster) में R68, R30 खसरे में R62, कनफेड़ों (Mumps) में R1, R26, खाँसी में R8, R9।
रोगी को मांसाहार से दूर रखें और विटामिन-सी का प्रयोग और जरुरी फैटी एसिड (Fatty Acids) का प्रयोग बढ़ायें।
संक्रमण से लेकर रोग-लक्षण प्रकट होने तक की अवधि फंगल-संक्रमण में R82
रोगाणु संक्रमण में R87
तनाव की स्थिति होने पर वीटा-सी फोर्ट।

डॉ रेकवेग R88 Anti-Viral Drops विषाणु नाशक, वाईरल संक्रमण ड्रॉप्स&rdquo पर एक विचार;

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s