Reckeweg R40 Diabetes Medicine Hindi मधुमेह की होम्योपैथी दवा

Top Diabetes mediciine in Hindi Madhumeha ki dawai R40 hindi mein

रेकवेक आर४० (R40) मधुमेह के लिए एक उत्कृष्ट होम्योपैथी दवा है जो जर्मनी तकनीक से तैयार किया गया है| मधुमेह एक चयापचय संबंधी विकार है जिसमें शरीर के निर्माण या हार्मोन इंसुलिन का उपयोग करने की क्षमता कम हो जाती है। इंसुलिन, जिसे अग्न्याशय (पेट के पीछे एक ग्रंथि) द्वारा निर्मित किया जाता है, रक्त शर्करा को शरीर की कोशिकाओं में प्रवेश करने के लिए ऊर्जा के रूप में उपयोग करने में सक्षम बनाता है

मधुमेह, अक्सर डॉक्टरों जिसे डायबिटीस मेलेटस कहते हैं, चयापचय संबंधी बीमारियों के एक समूह का वर्णन है जिसमें व्यक्ति को उच्च रक्त ग्लूकोज (रक्त शर्करा) होता है, या तो इंसुलिन का उत्पादन अपर्याप्त है या क्योंकि शरीर की कोशिकाओं को इंसुलिन से ठीक से प्रतिक्रिया नहीं देते हैं या दोनों.

महिलाओं और पुरुषों द्वारा अनुभव वाले मधुमेह या डायबिटीस के लक्षण:
• बढ़ती प्यास और भूख
• लगातार पेशाब आना
• वजन घटाने या लाभ जिसका कोई स्पष्ट कारण नहीं है
• थकान
• धुंधली दृष्टि
• घाव जो धीरे धीरे चंगा
• जी मिचलाना
• त्वचा के संक्रमण

मधुमेह या डायबिटीस कैसे पता किया जाता है

126 मिलीग्राम / डीएल या उससे अधिक के उपवास वाले रक्त शर्करा का स्तर मतलब है कि एक व्यक्ति को मधुमेह है, ओजीटीटी परीक्षण के साथ, एक व्यक्ति के रक्त ग्लूकोज का स्तर उपवास के बाद मापा जाता है और फिर ग्लूकोज युक्त पेय पदार्थ पीने के 2 घंटे बाद मापा जाता है। यदि 2 घंटे का रक्त शर्करा का स्तर 140 और 199 मिलीग्राम / डीएल के बीच है, तो व्यक्ति को पूर्व-मधुमेह है

R40 मूल-तत्व : फैसियोलस नैनस D 12, एसिड फॉस्फोरिक D 12, आर्सेनिक एल्ब D8, लाइकोपोडियम D 30, नोट्रियम सल्फ्यूरिक D 12, यूरेनियम नाइट्रिक D 30, सीकेल कॉर्नेट D4.

लक्षण: मधुमेह (Diabetes in Hindi), घातक अल्परक्तता (anemia) तथा रक्त एवं ग्रंथीय प्रणाली में होने वाले विघटनकारी परिवर्तन, जैसे श्वेताणु रक्तता अथवा ल्यूकेमिया (leukemia), खून की कमी, लासिकाकणिकगुल्मता (lymphogranulomatosis in hindi), किंतु विशेषकर डायबिटीज़ (मधुमेह) के लिए ।

R 40 दूसरी श्रेणी के लक्षणों को कम करता है; जैसे : निराशा (depression in hindi), व्याकुलता (agitation), पेट फूल जाने जैसी अनुभूतियाँ, भूख की कमी, मौसम परिवर्तन से रोग वद्धि होना, प्यास लगना, खुजली होना आदि । वर्तमान दवा से स्थायी उपचार की अपेक्षा नहीं की जा सकती ।

R40 क्रिया विधि : आज यद्दपि मधुमेह (Diabetes) का उपचार लगभग असंभव है, फिर भी यह सम्मिश्रण अनेक तकलीफदेह सहवर्ती (concomitant) लक्षणों से मुक्ति दिलाता है। इंसुलिन पर निर्भर मधुमेह रोगियों में, लंबे समय तक लगातार R40 लेने पर इंसुलिन यूनिट की मात्रा में सावधानीपूर्वक कमी संभव है ।
एसिड फॉस्फ : प्यास, नपुसंकता, मानसिक अवसाद (Psychic depression)।
आर्सेनिक एल्ब : न बुझने वाली प्यास, बढ़ती हुई कमजोरी ।
लाइकोपोडियम : यकत (liver) की दवा, पेट फूलना, सूजन की अनुभूति ।
नेट्रियम सल्फ : यकत (लिवर) की दवा, नम मौसम में रोग बढ़ने पर विशिष्ट क्रिया करती है ।
फैसियोलस नैनस : मूत्र में शर्करा, हृदय की अनियमित क्रिया ।
सीकेल कॉर्न : प्यास, काँटों जैसी चुभन और संवेदना में किसी प्रकार की अस्वाभाविकता (Paresthesia), ठंडी चीजें सेवन करने को तीव्र इच्छा ।
यूरेन नाइट्रिक : विभिन्न कारणों से होने वाले मधुमेह रोग की विशिष्ट औषधि ।

R40 खुराक की मात्रा: लंबे उपचार के लिए प्रतिदिन 3 बार भोजन के पूर्व थोड़े पानी में 10-15 बूंदें । कुछ सुधार के बाद, खुराक कम करके प्रतिदिन दो बार कर दें ।

मधुमेह के लिए अन्य महत्वपूर्ण होम्योपैथी दवाएं

मधुमेह मेलेटस की वजह से भूख वृद्धि हुई है,  रक्त और पेशाब में चीनी की भाड़ोत्री साइज़ीगियम जंबोलैनम 1 एक्स टैबलेट, एडीएल 18 ग्लूकोरेन्ट ड्रॉप
मधुमेह – लक्षणों को कम करने और शरीर के कार्यों को सुधारने के लिए बायोप्लासेन / बायोकॉम्बिनेट नंबर 7, एचसी -73 यूरेनियम एनट्रिकम
मधुमेह में कमजोरी श्वाबी मधुमेह अल्फाल्फा टॉनिक 
परिपक्वता शुरुआत मधुमेह (Maturity onset diabetes ) एसबीएल डाइबोनिल
मधुमेह नियंत्रण और जटिलताओं रोकने व्हीजल डायबिटीस ड्राप्स, डायबो एक्स (ब्लूओमे 11)
  ड्रेक्स 7 डाइबेट
  एलेन होम्योपैथी ए08 बूँदें
  डोलियोसिस डी 30 ड्रॉप्स
  व्हीजल सेक्रॉल टेबलेट्स
  नेट्रियम मुराटिकुम
  लार्ड एल 118 बूँदें
मधुमेह प्रबंधन औषधि  भर्गव मिनेमास डाईसीन बूँदें
मधुमेह मेलिटस के कारण पुरुषों में यौन शक्ति का अभाव हसलाब अतुल वाइटल टॉनिक ९ (शुगर फ्री )
रक्त और मूत्र, हाइपोग्लाइसीमिया में शर्करा के स्तर को बनाए रखता है भार्गवा डायबोराल एंट्री-डायबिटीज एड
मधुमेह की वजह से नपुंसकता व्हीजल स्टीमुलेंट ड्राप्स (उत्तेजक)

 

टिप्पणी : जटिल अवस्थाओं या अन्य पूरक लक्षणों की स्थिति में निम्नलिखित औषधियों का उपयोग किया जाएगा :
R1, जलन, विशेषकर नासूर तथा फोड़ों में
R7, यकत के क्रियात्मक व्यावधान में
R10, रजोनिवत्ति रजोनिवत्ति कालीन रोग तथा वद्धवस्था का मधुमेह
R19, तथा 20 उत्पादक ग्रंथियों की के उद्दीपक के रूप में
R21, त्वचा-रोग (फोड़े)
R41, पुरुषों में नपुसंकता तथा शक्ति की सामान्य कमी
R37, कब्ज़, आँतों की कमजोरी, अपान वायु अथवा हवा खारिज होना तथा अफारा
R42, शिराओं की स्थिरता; सूजी हुई तथा जलनयुक्त शिरायें
R31, भूख का अभाव, दुर्बलता, पीला पढ़ते जाना

समुचित मिश्रण के द्वारा बहुत पुराने रोग में भी आश्चर्यजनक परिणाम प्राप्त किए जा सकते हैं ।

4 विचार “Reckeweg R40 Diabetes Medicine Hindi मधुमेह की होम्योपैथी दवा&rdquo पर;

    1. अगर कुछ संबंदित स्वास्थ्य समस्याएं हैं तो कुछ मानार्थ (complimentary) दवाएं संकेतित है जैसे;
      यदि यकृत की समस्या है आर ७ को अतिरिक्त रूप से लिया जाना है, आर १० अगर रजोनिवृत्ति या क्लाइमेक्टेरिक समस्याएं हैं, आर ४१ अगर मधुमेह के कारण यौन कमजोरी है, तो आर ४२ अगर वैरिकोस और नसों में सूजन है

      पसंद करें

  1. क्या आप मुझे बतायेंगे की R40 को लेने मात्र से ही डायबीटीज कम हो जायेगी ?

    और क्या रक्त मे शर्करा की मात्रा साधरण मानव की तरह हो जायेगी क्या ?

    पसंद करें

    1. इस होम्योपैथी दवा को मधुमेह के माध्यमिक लक्षण जैसे भूख की कमी, अवसाद, प्यास इत्यादि को कम करने के लिए संकेत दिया जाता है। स्थायी इलाज लाने की उम्मीद नहीं की जा सकती है। साईजिजियम जाम्बोलनुम जैसी अन्य होम्योपैथी दवा मूत्र में चीनी स्तर को तुरंत कम करती है. यहां हिंदी में मधुमेह के लिए पूरी होम्योपैथी दवा सूची देखें

      पसंद करें

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s