डॉ.रेकवेग R77 Anti-Smoking Drops धूम्रपान, सिगरेट निरोधी ड्रॉप्स

R77 homeopathy drops in Hindi quit smoking medicine tobacco addiction

तम्बाकू की लत और सिगरेट छोड़ने के बारे में संक्षिप्त जानकारी
धूम्रपान समाप्ति (क्विट स्मोकिंग)तंबाकू धूम्रपान बंद करने की प्रक्रिया है जिसमे परामर्श, दवा, जीवन शैली में परिवर्तन शामिल होता है। तंबाकू धूम्रपान में निकोटीन होता है, जो नशे की लत है। निकोटिन की लत अक्सर बहुत लंबे समय तक और मुश्किल छोड़ने की प्रक्रिया बनाती है। निकोटिन निकालने(विथड्रॉल सिम्पटम्स) के लक्षण आमतौर पर छोड़ने के बाद 2 से 3 दिनों तक अपने शिखर पर पहुंचते हैं, और 1 से 3 महीने के भीतर चले जाते हैं। (1) धूम्रपान छोड़ने के बाद आपके दिमाग की रसायन शास्त्र सामान्य होने पर कम से कम 3 महीने लगते हैं। (2) आमतौर पर चिड़चिड़ाहट और कम ऊर्जा अंतत जानेवाला दो लक्षण है । धूम्रपान रोकना निम्नलिखित स्वास्थ्य लाभों से जुड़ा हुआ है: फेफड़ों के कैंसर और कई अन्य प्रकार के कैंसर के जोखिम कम होना । हृदय रोग, स्ट्रोक, और परिधीय संवहनी रोग (आपके दिल के बाहर रक्त वाहिकाओं को संकुचित करने) के लिए कम जोखिम। छोड़ने के 1 से 2 साल के भीतर हृदय रोग का खतरा कम होना है

R77 drops Hindi लक्षण : धूम्रपान छुड़ाने के लिए, धूम्रपान के परिणाम स्वरुप होने वाले दुष्प्रभाव, अत्यधिक धूम्रपान के कारण होने वाला सिरदर्द तत्पश्चात उठने वाला रक्त-वाहिनियों का संकुचन, मतली, पेट में दर्द, कब्जियत, धड़कन में अनियमितता, लीवर सम्बन्धी तकलीफें, कान के निचले पर्दे का प्रदाह। संयोजी ऊतकों की प्रक्रिया में व्यवधान। अन्तःस्त्रावी (Endocrine) ग्रंथियों में व्यवधान, रक्त वाहिनियों में व्यवधान, धूम्रपान करने वालों की टाँगों की दुर्बलता (Smoker’s leg)

मूल-तत्व: अगैरिकस D5, एकीनेशा एंगुस्टिफोलिया D10, नेट्रियम क्लोरेटम D2, रोबिनिया D6, टैबेकम D4.

क्रिया विधि: औषधि में मिश्रित मूल-तत्व शरीर में निकोटिन के निरंतर प्रवाह से उत्पन्न क्षति की पूर्ति करते हैं।यदि इसे नियमित रूप से लंबे समय तक लिया जाए तो प्रतिरोध करने की क्षमता बढ़ेगी, तंत्रिका तंत्र की स्वायत्त प्रक्रिया पुनः प्राप्त होगी, तथा नलिकाओं में रक्त की पूर्ति बेहतर होगी। परिणामस्वरूप यह भावना कि निकोटिन एक कृत्रिम सामंजस्य लाती है, अनावश्यक बन जाती है, यदि तंबाकू का प्रयोग बंद कर दिया जाये तो। एक सामान्य स्वास्थ्य आरंभ हो जाता है।
अगैरिकस : संचरण सम्बन्धी व्यवधान, ह्रदय की अनियमित धड़कन, लीवर में सूजन, जीभ पर परत, पेट में दर्द और मतली।
एकीनेशा एंगुस्टिफोलिया : रोग प्रतिरोधात्मक शक्ति को बढ़ाती है, आंतरिक रोगाणुरोधक (Antiseptic), साथ में लसिकावाहिका सम्बन्धी (Lymphatic) प्रणाली को शक्ति प्रदान करती है। सभी निर्विषीकरण-प्रणालियों का उद्दीपन करती है।
नेट्रियम क्लोरेटम : कनपटी सम्बन्धी सिरदर्द, अतालता सम्बन्धी धड़कन, कड़े और सूखे मल के साथ कब्ज।
रोबिनिया : अत्यधिक धूम्रपान के कारण पेट में दर्द, अम्लीय जठरशोथ (पेट का प्रदाह)।
टैबेकम : सन्निपात, पीलापन, पसीना आना, डर की अनुभूति, हाथ-पैरों का ठंडा होना, वातशूल तथा सिर चकराना, मतली और उल्टी के साथ तंबाकू के कुप्रभावों को रोकती है। परिसरीय तथा धमनी सम्बन्धी व्यवधानों पर विशेष रूप से प्रभावशाली। धूम्रपान करने वालों की टांगों की कमजोरी (Smoker’s leg)।

R77 खुराक की मात्रा: प्रतिदिन ३ बार थोड़े पानी में १५-२० बूँदें वांछित प्रभाव के लिए लम्बे समय तक उपयोग करें।

टिप्पणी: धूम्रपान छोड़ने के कारण अधीरता की स्थिति हो तो अतिरिक्त औषधि के रूप में वीटा-सी 15 फोर्ट टॉनिक लेना चाहिए।

डॉ.रेकवेग R77 Anti-Smoking Drops धूम्रपान, सिगरेट निरोधी ड्रॉप्स&rdquo पर एक विचार;

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s