R22 Nervous Homeo Medicine, बेचैनी: हृदय की शूलग्रस्त अवस्था के कारण

Homeopathy Medicine R22 for Nervous disorder in Hindi, Bechaini

Dr. Reckeweg Homeopathy R22 Drops for nervous disorders Hindi. डॉ.रेकवेग अर.२२ स्नायु दोष निवारक ड्रॉप्स – हृदय की शूलग्रस्त अवस्था के लिए, सुरक्षित और कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं, जर्मन सीलबंद होम्योपैथी दावा

मूल-तत्व : ग्रिंडेलिया रॉब D 4, लैकेसिस D 12, नाजा-ट्राईपुड D 12.

लक्षण : तंत्रिका सम्बन्धी व्यवधान, छाती में भारीपन की अनुभूति तथा घुटन, पेटे फूलने के बाद भी । हृदय की दर्द (Anginous in Hindi) सम्बन्धी स्थिति ।

क्रिया विधि :

नाजा ट्राई : हृदय की दर्द (Anginous) सम्बन्धी स्थिति के कारण मस्तिष्क और कनपटियों में दुखन । हृदय की तेज़ धड़कन, छाती में भारीपन की अनुभूति, सामान्य बेचैनी । स्नायविक खाँसी के कारण हृदय की दुर्बलता तथा चिड़चिड़ापन, उग्र अवस्था ।

ग्रिंडेलिया रॉब : ऐसा अनुभव होता है मानो छाती की कोटर (cavity) के अनुपात में हृदय बहुत बड़ा है, हृदय तथा फेफड़ों की कमज़ोरी, बिस्तर में घुटन की अनुभूति ।

लैकेसिस : घबराहट, आध्यात्मिक विद्वेष (Spiritual animosity) सिरदर्द विशेषकर बाँयी आँख के ऊपर, घुटन की अनुभूति के साथ धड़कन बढ़ना, रात को सोते समय और गर्मी से तकलीफ बढ़ना ।

खुराक की मात्रा : सामान्यतः लंबे समय तक भोजन के पूर्व प्रतिदिन 3 बार थोड़े पानी में 10-15 बूँदें ।

मूल्य: २00 Rs (10% Off) ऑनलाइन खरीदो!!

OUTSIDE INDIA Pay Via PaypalBuy Now

डॉ. रेक्वेग के अन्य थेरप्यूटिक दवाईयों की सूची

टिप्पणी : हृतपेशियों (Myocardial in Hindi) की अपर्याप्तता और हृतपेशियों (Myocardial) के अपजनन में R 3 देखें । इसे R 22 के साथ अतिरिक्त औषधि के रूप में दे सकते हैं ।

हृदय-शूल (Angina-Pectoris) में : R 2

क्षति-आपूर्ति ना होने की स्थिति में : R58

हृत्पेशीय रोधगलितांश (Myocardial infarct in Hindi) में : R 67 तथा R 55

हृदय की गति सम्बन्धी विकार में : R 66

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s