आर ३० बहु उपयोगी मरहम- गठिया, अर्थराइटिस, मोच, फोड़े, नसों का दर्द

Multi purpose Ointment for sprain, rheumatism, sciatica, boils, muscle pain in Hindi

एटोमेयर-बेकरॉन-डॉ रेकवेग R30 Universal Ointment Hindi बहूउ बहुउंद्देश्यीय मरहम जो मासपेशी में दर्द, गठिया, अर्थराइटिस, मोच, फोड़े (Boils Hindi), नसों का दर्द (Neuralgia Hindi) , पक्षाघात में बहु उपयोगी है

मूल-तत्व: अर्निका D3, बेलाडोना D3, कैलेंडुला D3, कैम्फर D3, डल्कामारा D3, इकिनेशिया एंगुस्टिफोलिया D3, हैमामेलिस D3, हाइपेरिकम पर्फ D3, मिल्लिफोलियम D3, नक्स वोमिका D3, रस टॉक्स D3.

लक्षण: माँसपेशियों एवं जोड़ों का आमवात (Rheumatism), तंत्रिकाशूल एवं कटि स्नायुशूल (Sciatica) । रीढ़ की हड्डी के बीच के चक्रों (Inter vertebral discs) की विघटनकारी प्रक्रियाएं, जोड़ों के आसपास की प्रदाह युक्त सूजन (Osteo-arthiritis in Hindi), विच्छेदन के कारण होने वाला नाड़ी शूल (amputation neuralgias) । आघात के कारण पक्षाघात, चेहरे का पक्षाघात, अस्थि-उपास्थि शोथ (Osteochondritis) । नील पड़ना, पेशियों में दर्द, मोच । फोड़े तथा फुँसियाँ ।

क्रिया-विधि:

बेलाडोना : अतिरक्तता (hyperaemia) से सम्बन्धित सभी प्रकार की प्रदाहक अवस्थाओं में प्रभावशाली ।

कैलेंडुला : कटे-फटे घावों तथा नील पड़ने पर इसकी विशिष्ट रूप से प्रभावशाली क्रिया होती है ।

इकिनेशिया एंग : तंतुओं में प्रतिरोधक शक्ति को बढ़ाने वाली ।

हैमेमेलिस : शिरा सम्बन्धी रक्त स्राव । सामान्य पीड़ा एवं प्रत्यंगों में दर्द ।

मिलिफोलियम : रक्तस्राव सम्बन्धी औषधि ।

बाह्म आवेदन:

सुबह और शाम को स्थानिक रूप से लगाना अधिकतर पर्याप्त होता है । दर्द और अविराम पीड़ा की तीक्ष्ण स्थितियों में कई बार लगाना अनिवार्य हो सकता है । घाव और फोड़ों आदि में प्रभावित भाग के चारों ओर के ऊतकों पर ही मरहम लगाना चाहिए ।

मूल्य: 510 Rs (10% Off) ऑनलाइन खरीदो!!

OUTSIDE INDIA Pay Via PaypalBuy Now

डॉ. रेक्वेग के अन्य थेरप्यूटिक दवाईयों की सूची

टिप्पणी: एटोमेयर-बेकरॉन R 30 को बाहरी रूप से लगाने के साथ निम्नलिखित औषधियों का सेवन भी करना चाहिए ।

जोड़ों और पेशियों के आमवात (Rheumatism), हड्डियों के जोड़ों के प्रदाह (Osteo-arthritis) तथा अस्थि-उपास्थि शोथ मेँ : R 11

कटि स्नायुशूल (Sciatica) में : R 71

सिर तथा सिर के पिछले भाग की नाड़ियों के दर्द में : R 16

कंधे तथा दूर-दूर तक फैले ऊपरी अंगों के आमवात (Rheumatism in Hindi) में : R 46

स्त्रियों के पीठ-दर्द में : R 50

हड्डियों के जोड़ों के प्रदाह (Osteoarthritis) में : R 73

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s